जनसुनवाई पोर्टल उत्तर प्रदेश UP Jansunwai Portal

UP Jansunwai Portal को उत्तर प्रदेश के तत्कालीन मुख्यमंत्री अखिलेश यादव द्वारा 25 जनवरी, 2016 को उत्तर-प्रदेश के तत्कालीन सरकार द्वारा लॉन्च किया गया था |जनसुनवाई उत्तर-प्रदेश सरकार का एक आधिकारिक ऑनलाइन शिकायत पोर्टल है, जो एक एकीकृत शिकायत निवारण प्रणाली की अवधारणा पर काम करता है। जो कि वर्तमान मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ जी के द्वारा संचालन में है | आज के कम्प्यूटर और तकनीकी की दूनिया में online शिकायत पोर्टल ने लोगों के जीवन में बहुत बड़ा परिवर्तन लाया है |

Table of Contents

Jansunwai उत्तर प्रदेश सरकार के मंत्रालयों व विभागों की प्रशासन प्रणाली में सुशासन के लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए समर्पित है।उत्तर प्रदेश में जो भी सरकारें भविष्य में आएंगी वे भी जनसुनवाई पोर्टल को जारी रखने का प्रयास करेगी | इस पोर्टल के सुविधा के माध्यम से राज्य का कोई भी व्यक्ति अपनी शिकायत ऑनलाइन दर्ज करा सकता है ,और सम्बंधित विभाग द्वारा आपकी समस्या का निस्तारण निर्धारित समय के तहत किया जायेगा |

jansunwai.up.nic.in जनसुनवाई पोर्टल की आधिकारिक वेबसाइट है | उत्तर-प्रदेश के लोग राज्य सरकार की सेवाओं और योजनाओं व सरकारी प्रशासन से संबंधित मुद्दों के बारे में अपनी शिकायत दर्ज करा सकते हैं। जनसुनवाई एक वेबसाइट आधारित पोर्टल है , जहां हर व्यक्ति सरकारी विभाग के खिलाफ अपनी शिकायत, सुझाव , मांग दर्ज करा सकता है।आज हम अपने इस आर्टिकल के माध्यम से उत्तर-प्रदेश जनसुनवाई पोर्टल के बारे में सभी जानकारी आपके साथ साझा करने जा रहे है इसे ध्यान पूर्वक पढ़ें यहां से आप अपनी व अन्य दुसरो की शिकायत दर्ज करा सकेंगे |

जनसुनवाई पोर्टल क्या है ? Jansunwai portal kya hai.

यह एक उत्तर प्रदेश का सरकारी शिकायत दर्ज करने वाली website है,इस साईड के माध्यम से आप सरकार से संपर्क कर सकते हैं , और अपनी शिकायतें सीधा सरकार के अधिकारियों तक पहुंचा सकते हैं। इस पोर्टल से कोई भी नागरिक साइट के अधिकारिक नाम jansunwai.up.nic.in को Google में सर्च कर , वेबसाइट पर क्लिक कर अपनी शिकायत दर्ज करवा सकता है।इस सुविधा के माध्यम से राज्य का कोई भी नागरिक किसी विभाग के अधिकारी के खिलाफ online शिकायत दर्ज कर सकता है। आप के द्वारा एक बार जनसुनवाई पोर्टल पर शिकायत दर्ज होने के बाद , संबंधित विभाग के अधिकारी आपकी समस्या का निवारण निर्धारित समय-सीमा के भीतर करते है।

जनसुनवाई पोर्टल पर कैसे जाएं

जनसुनवाई शिकायत पंजीकरण, जनसुनवाई पोर्टल , मोबाइल ओटीपी के माध्यम से सरल पंजीकरण की सुविधा प्रदान करता है, और किसी भी समय इस पोर्टल के माध्यम से निम्नलिखित प्रमुख कार्य को किया जा सकता है

  1. शिकायत पंजीकरण कर सकते हैं
  2. अधिकारी लॉगिन, विभाग के अधिकारी login
  3. सेंट रिमाइंडर,
  4. फीडबैक, संतुष्ट और असंतुष्ट का कारण
  5. सुझाव, विभाग के अधिकारी को उचित सुझाव दें
  6. मांग, विभाग से कोई मांग जो सभी के हित में हो
  7. आख्या रिपोर्ट, शिकायत की निस्तारण रिपोर्ट

इसी Jansunwai Portal को ही अन्य नाम है ,जैसे मुख्यमंत्री जनसुनवाई पोर्टल, CM Helpline UP, मुख्यमंत्री शिकायत उत्तर प्रदेश, Jansunwai AppIGRS,समन्वित शिकायत निवारण प्रणाली, Integrated Grievance Redressal System या 1076 , jansunwai.up.nic.in है |

UP Jansunwai Portal एक ऐसा पोर्टल है। जिसे उत्तर प्रदेश सरकार ने उत्तर प्रदेश के नागरिकों के लिए शिकायत पंजीकरण के लिए बनाया है। जैसा कि हम सभी लोग यह जानते हैं कि आजकल भ्रष्टाचार अपने चरम सीमा पर है। अधिकारी व कर्मचारी लोग अपने कर्तव्यों का सही ढंग से निर्वाहन नहीं करते हैं। उत्तर प्रदेश सरकार सभी नागरिकों को होने वाली समस्याओं को, और उनका समाधान प्रदान करने के लिए इस पोर्टल का निर्माण किया है। कई बार ऐसा देखा जाता है, कि गरीब व्यक्तियों की शिकायत को कोई विभाग का कर्मचारी , अधिकारी,उच्च पदाधिकारी नहीं सुनता है। इसलिए उन्हें इंसाफ नहीं मिल पाता या इंसाफ में देरी हो जाती है। गरीब लोग किसी अन्य बड़े अधिकारी के पास में जाने का वह साहस भी नहीं कर पाते। चूंकि शिकायत करने के लिए भी कई प्रकार की अन्य समस्याओं का सामना करना पड़ता है।

लेकिन अब उत्तर प्रदेश सरकार ने उत्तर प्रदेश के सभी नागरिकों कि इन समस्याओं को हल कर दिया है। अब कोई भी उत्तर प्रदेश का नागरिक घर बैठे Uttar Pradesh Jansunwai Portal के माध्यम से किसी भी विभाग के कर्मचारी, विभाग के उच्च अधिकारी के खिलाफ शिकायत कर सकता है। और उस शिकायत पर ,अधिकारी, कर्माचारी के खिलाफ , सरकार में उच्च अधिकारी द्वारा जल्द से जल्द एक्शन लिया जाता है। और आम नागरिकों को उनका हक उन्हें दिलाया जाता है। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ ने Uttar Pradesh Jansunwai Portal पर दर्ज़ होने वाले शिकायत का फीडबैक लिया करते रहते हैं समय-समय पर । ताकि प्रदेश के सभी नागरिकों को एक समान अधिकार प्राप्त हो सके। कोई भी विभाग का कर्मचारी या उच्च पदाधिकारी कानून का उल्लंघन ना कर सके।

IGRS क्या है ? IGRS Full form kya hai.

IGRS का पूरा नाम अंग्रेजी में Integrated Grievance Redressal System है, I.G.R.S को हिन्दी में समन्वित शिकायत निवारण प्रणाली कहा जाता है | जब कोई व्यक्ति जनसुनवाई पोर्टल पर शिकायत करता है, तो उसे एक IGRS सन्दर्भ संख्या प्राप्त होता है| कोई भी विभाग का कर्मचारी या अधिकारी उसी सन्दर्भ संख्या का निस्तारण के लिए ही, शिकायत कर्ता को फोन कर सबसे पहले यही बात बोलते हैं कि क्या आप ने IGRS किया था | जब शिकायत करता कहता है कि हां तब आगे की जो भी शिकायत में दर्ज किया रहता है शिकायत करता उसी का निस्तारण संबंधित अधिकारी या कर्मचारी करते हैं

उत्तर प्रदेश जनसुनवाई के बारे में जानकारी | About UP Jansunwai Portal.

जनसुनवाई यूपी आधिकारिक वेबसाइटjansunwai.up.nic.in
Email ID
jansunwai-up@gov.in
जनसुनवाई टोल फ्री नंबर 📞Toll Free Number 1076
जनसुनवाई से ऑनलाइन शिकायत करेंjansunwai.up.nic.in
जनसुनवाई मोबाइल ऐपjansunwai App
आर्टिकलउत्तर-प्रदेश राज्य सरकार
सोशल मीडियाFacebook
twitter
Gmail IDjansunwaiup2016@gmail.com
योजना का नामउत्तर प्रदेश जनसुनवाई
मुख्य अधिकारीमुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ
विभागउत्तर प्रदेश लोक शिकायत विभाग
उद्देश्यप्रदेश का विकास व भ्रष्टाचार पर रोक
योजना की स्थितियोजना आरंभ में है
पंजीकरण का ऑनलाइन तथा toll Free 1076 फोन के माध्यम से
शिकायत दर्ज करने की फीसकोई फीस नहीं – निशुल्क
लाभार्थीउत्तर प्रदेश के नागरिक
लाभसमस्याओं का निस्तारण
शिकायत का आख्या PDF फार्मेट में

उत्तर प्रदेश के किसी विभाग के कर्मचारी या अधिकारी के खिलाफ दर्ज करनी है कोई शिकायत तो जनसुनवाई पोर्टल का प्रयोग कर सकते हैं| यदि एक बार आप शिकायत दर्ज कर देते हैं, तो शिकायत दर्ज होने के बाद संबंधित विभाग कम से कम समय में आपकी समस्या का निस्तारण करेगा, जब तक आपकी शिकायत का निस्तारण नहीं हो जाता है, तब तक आप ऑनलाइन माध्यम से जनसुनवाई पोर्टल पर शिकायत का Jansunwai Status देखते रहे |

Jansunwai Portal/APP Uttar Pradesh

उत्तर प्रदेश सरकार ने उत्तर प्रदेश के नागरिको के लिए और लोगो को सरकारी विभाग सम्बन्धी परेशानियों को दूर करने के लिए यूपी जनसुनवाई पोर्टल को लॉन्च किया है जिससे राज्य के लोगो की शिकायत को आसानी से सुलझाया जा सके | Jansunwai Portal के माध्यम से राज्य के भ्रष्टाचार को रोका जा सके | राज्य सरकार का उद्देश्य इस जनसुनवाई सुविधा का लाभ उत्तर प्रदेश के सभी लोगो तक पहुँचाना |

jansunwai.up.nic.in

उत्तर प्रदेश में उच्च अधिकारियों तक अपने शिकायत भेजने के लिए सबसे सरल मध्यम jansunwai.up.nic.in है | इस website पर आप अपने मोबाइल के द्वारा अपनी शिकायत या समस्या अपनी भाषा में लिख कर दर्ज करवा सकते हैं | और निस्तारण भी इसी website पर देख सकते हैं |

उत्तर प्रदेश जनसुनवाई पोर्टल पर स्वीकार न की जाने वाली शिकायते

ऑनलाइन आवेदकों के लिए वेबसाइट नीतिया

ऐसे विषय/बिंदुओं की सूची जिनको जनशिकायत नहीं माना जाएगा

  • सूचना के अधिकार से सम्बंधित मामले नहीं दर्ज होगा
  • मा० न्यायालय में विचाराधीन प्रकरण नहीं दर्ज होगा
  • सुझाव नहीं दर्ज होगा
  • आर्थिक सहायता या नौकरी दिए जाने की मांग नहीं दर्ज होगा
  • सरकारी सेवकों के सेवा सम्बन्धी प्रकरण (स्थानांतरण सहित) जब तक कि उन्होंने विभाग में उपलब्ध विकल्पों का उपयोग न कर लिया हो भी नहीं दर्ज होगा

 मैं सहमत हूँ कि मेरी जनशिकायत उपरोक्त वर्णित श्रेणियों में नहीं आती है पर सही टिक करना होगा और अन्त में सबमिट करें पर click करना होगा|

UP Jansunwai Portal Complaints Types | शिकायतों के प्रकार

इस पोर्टल पर आप आप अपनी सभी प्रकार सरकारी विभाग से संबंधित शिकार को दर्ज करवा सकते हैं जैसे राशनकार्ड, पेंशन, आवास, शौचालय, अन्य सरकारी लाभ या समस्या का समाधान इत्यादि दर्ज करवा सकते हैं|

उत्तर प्रदेश जनसुनवाई ऑनलाइन शिकायत पंजीकरण कैसे करे ?

How to do Uttar Pradesh Jansunwai Online Complaint Registration ? सबसे पहले आपको गूगल सर्च में जनसुनवाई सर्च करना होगा | इसके बाद जो सबसे ऊपर वेबसाइट आएगी जनसुनवाई लिखा हुआ इस पर क्लिक करना होगा | इसके बाद आप जनसुनवाई पोर्टल पर चले जाएंगे और वहां पर शिकायत पंजीकरण करें पर क्लिक करना और उसके नियम और शर्तें जो है उन्हें स्वीकार करें इसके बाद मोबाइल नंबर और कैप्चर कोड को भरना होगा फिर आपके मोबाइल पर ओटीपी आएगा उस ओटीपी को भरना होगा फिर इसके बाद जिस विभाग में शिकायत करना हो उससे संबंधित अपनी प्रार्थना पत्र को किसी नोटपैड में लिखकर रखे रहिए ताकि शिकायत दर्ज करते समय केवल उसी को कॉपी करके शिकायत लिखे में सबमिट कर दे जब आप पंजीकरण करेंगे तो उसमें अपना नाम अपने पिता या पति का नाम लिखे | और जिस विभाग में शिकायत भेजना है उसको सेलेक्ट करना और इसके बाद नोटपैड से शिकायत जो आप प्रार्थना पत्र लिखे हैं उसे पेस्ट करते हैं इसके बाद नीचे सुरक्षित करें संदर्भ सुरक्षित करें लिखा रहेगा उसे पर क्लिक करे इस प्रकार आप सीधा पोर्टल पर शिकायत दर्ज कर सकते हैं जब आपकी शिकायत पोर्टल पर दर्ज हो जाएगी तो आपके मोबाइल पर मैसेज आएगा जिस पर जनसुनवाई संदर्भ संख्या लिखा रहेगा उसे नोट करके रख ले आवश्यकता पड़ने पर इसी संदर्भ संख्या से आप अपनी शिकायत की रिपोर्ट देख सकते हैं रिमाइंडर या फीडबैक भेज सकते हैं |

शिकायत नंबर नोट करके रखें

जब आपका शिकायत जनसुनवाई पोर्टल पर दर्ज हो जाएगा तो आपके मोबाइल पर एक मैसेज आएगा जिस पर लिखा रहेगा यूपी गवर्नमेंट आपका संदर्भ संख्या जनसुनवाई पोर्टल पर सफलतापूर्वक दर्ज हो गया वही संदर्भ संख्या को सुरक्षित रख रहे जो बाद में आपको आवश्यकता पड़ेगी अपनी शिकायत की स्थिति रिमाइंडर फीडबैक इत्यादि के लिए और आप कभी भी इस शिकायत पंजीकरण नंबर का उपयोग करके अपनी शिकायत की स्थिति को चेक कर सकते हैं।

UP Jansunwai Portal Complaint Status

UP जनसुनवाई पोर्टल पर जो भी शिकायत दर्ज किया जाता है आप इस पोर्टल के माध्यम से उस शिकायत में अधिकारी ने क्या रिपोर्ट लगाया है अथवा उस शिकायत की स्थिति क्या है शिकायत कब निस्तारित किया गया है शिकायत निस्तारित करने वाले अधिकारी का नाम व शिकायत का समाधान हुआ कि नहीं इन सभी की जानकारी आप शिकायत की स्थिति देखें के माध्यम से देख सकते हैं आप सीधा जब पोर्टल पर जाएंगे तो आपको वहां पर मिलेगा शिकायत की स्थिति देखी वहां आप क्लिक करके आप संदर्भ संख्या को दर्ज करें कि और अपना मोबाइल नंबर दर्ज करेंगे इसके बाद सबमिट करेंगे सबमिट करने के बाद आपको उस शिकायत की स्थिति की जानकारी पोर्टल पर दिखाई देने लगेगा |

Send Reminder in UP Jansunwai Portal

जब आप जनसुनवाई पोर्टल पर जाएंगे वहां पर लिखा रहेगा अनुस्मारक भेजें पर क्लिक करना होगा इसका मतलब यह है कि नियत समय तक कार्यवाही न होने पर अनुस्मारक भेजें उसे पर क्लिक करें | वहां पर क्लिक करके अपना शिकायत संख्या दर्ज करें, शिकायत संख्या दर्ज करके आप अनुस्मारक भेज सकते हैं |

उत्तर प्रदेश के सभी जिले में जनसुनवाई पर शिकायत दर्ज करना मान्य है|

  • आगरा
  • अलीगढ़
  • अम्बेडकर नगर
  • अमेठी (छत्रपति साहूजी महाराज नगर)
  • अमरोहा (जेपी नगर)
  • औरैया
  • अयोध्या
  • आजमगढ़
  • बागपत
  • बहराइच
  • बलिया
  • बलरामपुर
  • बाँदा
  • बाराबंकी
  • बरेली
  • बस्ती
  • भदोही
  • बिजनौर
  • शाहजहांपुर
  • बुलंदशहर
  • चंदौली
  • चित्रकूट
  • देवरिया
  • एटा
  • इटावा
  • फर्रुखाबाद
  • फतेहपुर
  • फिरोजाबाद
  • गौतम बुद्ध नगर
  • गाज़ियाबाद
  • गाजीपुर
  • गोंडा
  • गोरखपुर
  • हमीरपुर
  • हापुड़ (पंचशील नगर)
  • हरदोई
  • हाथरस
  • जालौन
  • जौनपुर
  • झांसी
  • कन्नौज
  • कानपुर देहात
  • कानपुर नगर
  • कांशीराम नगर (कासगंज)
  • कौशाम्बी
  • कुशीनगर (पडरौना)
  • लखीमपुर-खीरी
  • ललितपुर
  • लखनऊ
  • महाराजगंज
  • महोबा
  • मैनपुरी
  • मथुरा
  • मऊ
  • मेरठ
  • मिर्जापुर
  • मुरादाबाद
  • मुजफ्फरनगर
  • पीलीभीत
  • प्रतापगढ़
  • प्रयागराज
  • रायबरेली
  • रामपुर
  • सहारनपुर
  • संभल (भीम नगर)
  • संत कबीर नगर
  • शाहजहांपुर
  • शामली (प्रबुद्ध नगर)
  • श्रावस्ती
  • सिद्धार्थ नगर
  • सीतापुर
  • सोनभद्र
  • सुल्तानपुर
  • उन्नाव
  • वाराणसी

जनसुनवाई पर शिकायत क्यों दर्ज करें?

उत्तर प्रदेश सरकार ने सरकारी सेवाओं एवं योजनाओं तथा घूसखोरी और भ्रष्टाचार की शिकायतों को दर्ज कराने के लिए एक मंच जनसुनवाई पोर्टल प्रदान किया है। सभी नागरिक उत्तर प्रदेश के जनसुनवाई पोर्टल पर मोबाइल से संपर्क कर सकते हैं और राज्य स्तर, जिला स्तर या पंचायत स्तर के प्रशासन मे उ. प्र. सरकार की किसी भी सेवा में आने वाली किसी भी तरह की समस्या के बारे में ऑनलाइन शिकायत दर्ज कर सकते हैं या करवा सकते हैं।

जनसुनवाई पोर्टल,व जनसुनवाई ऐप्स सभी लोगों के लिए निःशुल्क है, वे कुछ ही मिनटों में अपनी समस्या संबंधित विभाग में दर्ज करा सकते हैं और आवश्यक दस्तावेज या अभिलेख अपलोड कर सकते हैं। आनलाईन प्रणाली ने सभी प्रक्रियाओं को आसान बना दिया है। आप अपनी सभी प्रकार की सरकारी समस्या के बारे में समाधान पाने के लिए संबंधित विभाग से संपर्क कर सकते हैं।

UP Jansunwai Portal पर किस तरह की शिकायत कर सकते हैं आप?

इस पोर्टल पर सरकार के किसी भी विभाग से संबंधित योजनाओं या कोई अन्य समस्या जो कुछ भी हो उसका समाधान पा सकते हैं इस पोर्टल के द्वारा जो समस्या होती है उसे समस्या के संबंध में सक्षम अधिकारी होता है वह समाधान करता है अथवा करने के लिए अपनी अधीनस्थ अधिकारी को प्रेषित करता है

उत्तर प्रदेश के नागरिक जनसुनवाई पोर्टल पर सरकार से संबंधित किसी भी तरह की शिकायत दर्ज करा सकते हैं। जैसे शासकीय योजनाओं के बारे में या जनसाधारण की समस्या से जुड़ी शिकायत अथवा जनता की मांग से जुड़ी शिकायत दर्ज करवा सकते हैं|

Jansunwai यूपी Portal का क्या उद्देश्य है?

मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश जनसुनवाई पोर्टल को शुरू करने के पीछे का कारण राज्य में हो रहे सरकारी विभागों भ्रष्टाचार व काम में लापरवाही को कम करना है। ऐसे में अगर कोई अधिकारी या सरकारी कर्मचारी आपके साथ गैरकानूनी हरकत है अथवा आप के सरकारी काम में लापरवाही या टाल मटोल करता है तो आप उस कर्मचारी के खिलाफ ऑनलाइन शिकायत दर्ज कर सकते हैं |

इस पोर्टल का मुख्य उद्देश्य यह है कि सरकार अपनी जनता के प्रति एक जवाब देही सरकार साबित हो और सरकार की सभी कर्मचारी अपने कार्य के प्रति निष्ठावान हो तथा सरकार का कोई भी कर्मचारी किसी भी कार्य में लापरवाही न करें भ्रष्टाचार न करें और गरीबों की कार्यों को टाल मटोल न करें अक्सर देखा जाता है कि ज्यादातर अधिकारी काम करने में टाल मटोल करती हैं या काम में कोई ना कोई कमी बाता कर की प्रकरण का निस्तारण कर देती है इन्हीं सब समस्याओं का हल निकालने के लिए जनसुनवाई पोर्टल अति आवश्यक है

उत्तर प्रदेश में विभागों और मंत्रालयों की सूची है जो जनसुनवाई पोर्टल पर है

आप इन सभी विभागों की सेवाओं एवं योजनाओं के खिलाफ सम्बंधित अधिकारी को ऑनलाइन शिकायत दर्ज करा सकते हैं।

  1. अतिरिक्त ऊर्जा संसाधन विभाग
  2. अल्पसंख्यक कल्याण और वक्फ
  3. अवसंरचना और औद्योगिक विकास
  4. आईटी और इलेक्ट्रॉनिक्स
  5. आबकारी विभाग
  6. आवास और शहरी नियोजन
  7. उच्च शिक्षा विभाग
  8. बागवानी और खाद्य प्रसंस्करण
  9. ऊर्जा विभाग
  10. कृषि विपणन और विदेश व्यापार
  11. कृषि विभाग
  12. कृषि शिक्षा और अनुसंधान
  13. खादी और ग्रामोद्योग
  14. खाद्य एवं राशन विभाग
  15. खाद्य सुरक्षा और औषधि प्रशासन
  16. खेल विभाग
  17. घर और एन्क्रिप्शन (गृह मंत्रालय)
  18. ग्रामीण यांत्रिकी सेवा विभाग
  19. ग्रामीण विकास विभाग
  20. चिकित्सीय शिक्षा
  21. चिकित्सा स्वास्थ्य और परिवार कल्याण
  22. चीनी उद्योग और गन्ना विकास
  23. विकलांग जन अधिकारिता विभाग
  24. दूध और डेयरी विकास विभाग
  25. परोपकारी कार्य
  26. शहरी विकास और शहरी रोजगार और गरीबी उन्मूलन
  27. नागरिक उड्डयन
  28. पंचायती राज विभाग
  29. परती भूमि विकास
  30. परिवहन विभाग
  31. पर्यटन विभाग
  32. पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन विभाग
  33. पशुधन विभाग
  34. पिछड़ा वर्ग कल्याण विभाग
  35. तकनीकी शिक्षा
  36. बाल विकास सेवा एवं पुस्ताहार विभाग
  37. बेसिक शिक्षा विभाग
  38. खनिज एवं खनन विभाग
  39. मत्स्य विभाग
  40. मनोरंजन कर
  41. महिला कल्याण
  42. माध्यमिक शिक्षा बोर्ड
  43. युवा कल्याण विभाग
  44. राजस्व एवं आपदा विभाग
  45. राज्य/सार्वजनिक संपत्ति
  46. रेशम विकास
  47. लोक निर्माण विभाग
  48. वाणिज्यिक कर
  49. वित्त/पेंशन
  50. व्यावसायिक प्रशिक्षण और शिक्षा
  51. श्रम विभाग
  52. संस्थागत वित्त
  53. समाज कल्याण विभाग
  54. सहकारिता विभाग
  55. सिंचाई, जल संसाधन
  56. सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम
  57. सुचना/ जानकारी
  58. स्टाम्प और पंजीकरण
  59. हथकरघा और कपड़ा उद्योग
  60. गृह रक्षक

उक्त सभी विभागों से संबंधित सभी प्रकार की सरकारी समस्याओं को पोर्टल पर सुना जाता है |

जनसुनवाई में ऑनलाइन शिकायत दर्ज करने की प्रक्रिया

जनसुनवाई पोर्टल पर आप अपनी शिकायत को वेबसाइट के माध्यम से या जनसुनवाई ऐप के माध्यम से या 1076 पर कॉल कर शिकायत करके दर्ज करवा सकती है सरकार ने तीनों प्रकार की सुविधाओं को उपलब्ध कराया है इन तीनों प्रकार की सुविधाओं से अगर आप की शिकायत नहीं दर्ज हो रही है तो आप संबंधित विभाग के बड़े अधिकारी के यहां प्रार्थना पत्र लिखकर ले जाकर के वहां पर देंगे तो वह अधिकारी का कर्मचारी पोर्टल पर स्कैन करके आप की शिकायत को दर्ज कर देता है और उस अधिकारी के अधीनस्थ अधिकारी उस शिकायत पर अपनी जवाब या रिपोर्ट लगते हैं

संबंधित विभाग की शिकायतों का प्रकार

उत्तर प्रदेश सरकार ने जनसुनवाई पोर्टल पर शिकायतों को दर्ज करने की एक आसान प्रक्रिया प्रदान की है। आप हिंदी अथवा अंग्रेजों भाषा में सभी निर्देश पढ़ सकते हैं।

क्षेत्र – ग्रामीण या नगरीय में से किसी जो जहां से आप हो एक विकल्प का चयन करें।आप जिस जनपद से है – अपने जिले का चयन करें।यदि आप ग्रामीण क्षेत्र से है तो आप: अपने पते के इन विकल्पों का चयन करें; जैसे तहसील, ब्लॉक, ग्राम पंचायत, राजस्व ग्राम, पुलिस स्टेशन (थाना) क्रमश: चयन करें ।यदि आप शहरी या नगरीय क्षेत्र से है तो: शहरी क्षेत्र के प्रकार का चयन करें जैसे नगर निगम, नगर पालिका या नगर पंचायत। इसके बाद जिला, शहर / कस्बा (नगर), वार्ड / मोहल्ला, पुलिस स्टेशन (थाना) का चयन आदि को क्रमशः चयन करना होगा।

फीडबैक देने की प्रक्रिया

सबसे पहले आपको जनसुनवाई पोर्टल पर जाना होगा इसके बाद आपकी प्रतिक्रिया पर क्लिक करना होगा आपकी प्रतिक्रिया का मतलब शिकायत के निस्तारण के संबंध में फीडबैक या सुझाव दे सकते हैं जब आप क्लिक करेंगे तो वेबसाइट पर निस्तारण संदर्भ पर फीडबैक लिख कर आएगा और समाधान पोर्टल द्वारा केवल तीन माह पूर्व तक के निस्तारण संदर्भों पर फीडबैक दिया जा सकता है | गुणवत्ता स्टार की स्टार रेटिंग में आवेदक द्वारा एक या दो स्टार दिए जाने पर ही संदर्भ पर उच्च अधिकारियों स्तर पर पुनर्विचार किया जाएगा इसके बाद शिकायत पंजीकरण संख्या आप भरेंगे और अपना मोबाइल नंबर करेंगे और गुणवत्ता स्टार रेटिंग देंगे फिर इसके बाद फीडबैक अपना टाइप करेंगे कैप्चर कोड भरेंगे ओटीपी प्राप्त करें पर क्लिक करेंगे ओटीपी मिलने के बाद ओटीपी भर करते हैं सबमिट करेंगे तो आपका फीडबैक दर्ज हो जाएगा

नागरिकों के लिए UP Jansunwai App Download करने की प्रक्रिया

उत्तर प्रदेश सरकार नागरिकों की सुविधा के लिए पोर्टल की अतिरिक्त जनसुनवाई ऐप को भी लॉन्च किया था इस ऐप के माध्यम से आप अपनी शिकायत को सरलता से दर्ज करवा सकते हैं इस ऐप को डाउनलोड करने के लिए सबसे पहले आपको गूगल प्ले स्टोर पर जाना और वहां पर Jansunwai App टाइप करके सर्च करना Jansunwai App टाइप करने के बाद जो app आएगा उसे पर लिखा रहेगा Jansunwai App up उसको डाउनलोड कर इंस्टॉल करने के बाद आप उसे App के माध्यम से अपनी शिकायत दर्ज करवा सकती app में मोबाईल नंबर दर्ज करके पंजीकरण करें पंजीकरण करने के बाद उसमें आप अपना सभी डिटेल भरे और डिटेल भरने के बाद आप अपनी शिकायत का विभाग चुनाव करें app के माध्यम से शिकायत दर्ज करवा सकते हैं स्टेटस को देख सकते हैं शिकायत की और अपना फीडबैक भी दे सकते हैं यानी जो कार्य आप पोर्टल के माध्यम से कर सकते हैं ठीक वही कार्य आप Jansunwai App के माध्यम से सरलता से कर सकते हैं

अधिकारी लॉगइन करने की प्रक्रिया

जनसुनवाई ऐप या जनसुनवाई पोर्टल पर दर्ज सभी शिकायतों को निस्तारित करने के लिए संबंधित विभाग के सभी अधिकारियों को आईडी और पासवर्ड दिया होता है वह अपने कार्यालय के आईडी और पासवर्ड से अपने कार्यालय में आए सभी शिकायतों को लॉगिन करके देखते हैं और उसका निस्तारण रिपोर्ट को सबमिट करते हैं जिससे कि शिकायत करता अपनी शिकायत की स्थिति निस्तारण आदि को देख सकता है जनसुनवाई अधिकारी login अधिकारी के कार्यालय से ही आईडी और पासवर्ड प्राप्त होता है इस आईडी और पासवर्ड केवल संबंधित विभाग की अधिकारी ही प्रयोग करते हैं या कोई अन्य नहीं प्रयोग कर सकता है क्योंकि यह कार्यालय द्वारा कर्मचारी को ही दिया जाता है

UP Jansunwai Portal Helpline Number

उत्तर प्रदेश में जो लोग अपनी शिकायत ऑनलाइन पोर्टल या ऐप के माध्यम से नहीं कर सकती वे लोग सरकार द्वारा जारी सीएम हेल्पलाइन नंबर 1076 पर कॉल करके अपनी शिकायत को दर्ज करवा सकते हैं यह एक टोल फ्री नंबर है जब आप इस नंबर पर कॉल करेंगे तो ग्राहक सेवा अधिकारी कॉल को रिसीव करेगा और आपसे नाम पूछेगा नाम और समस्या आपकी पूछेगा जब आप अपना नाम और समस्या उसे बताएंगे इसके बाद वह आपकी सभी शिकायतों को आपसे पूछ – पूछ कर दर्ज करेगा शिकायत दर्ज होने के बाद संबंधित विभाग को प्रेषित कर दिया जाता है आप की शिकायत का निस्तारण संबंधित विभाग करता है

उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री से शिकायत कैसे करें? CM Helpline Online Complaint

उत्तर प्रदेश में सीएम हेल्पलाइन नंबर 1076 के माध्यम से मुख्यमंत्री पोर्टल पर अपनी शिकायत दर्ज करवा सकते हैं सबसे पहले आपको अपने मोबाइल पर टोल फ्री नंबर 1076 को डायल करना होगा इसके बाद कॉल करेंगे कॉल करने पर ग्राहक सेवा अधिकारी कॉल को उठाएगा और आप की शिकायत जो भी रहेगी उसे वह दर्ज करेगा और संबंधित विभाग को प्रेषित कर देगा | वैसे तो मुख्यमंत्री को लिखित शिकायत पत्र के माध्यम से स्पीड पोस्ट या डाक रजिस्टर्ड द्वारा भेज सकते हैं आपका पत्र कार्यालय में जाने के बाद वहां के समीक्षा अधिकारी उस पत्र को नोटिंग और ड्राफ्टिंग करते हैं और पोर्टल पर उसे स्कैन करके संबंधित विभाग को प्रेषित कर देते हैं संबंधित विभाग पत्र का निस्तारण करती है और अपना आख्या रिपोर्ट पोर्टल पर दर्ज करती है

यूपी सीएम हेल्पलाइन नंबर के माध्यम से शिकायत करें – cm helpline complaint Number

UP सीएम हेल्पलाइन नंबर 1076 है जिस पर कॉल करके आप किसी भी समय अपनी शिकायत को दर्ज करवा सकते हैं इस पर कॉल करने के लिए कोई निर्धारित समय नहीं है आपको जब भी आवश्यकता हो तब भी आप इस पर कॉल करके अपनी शिकायत को दर्ज करवा सकते हैं यह एक टोल फ्री नंबर है

मुख्यमंत्री हेल्पलाइन नंबर और पोर्टल के फायदे

मुख्यमंत्री हेल्पलाइन नंबर का बहुत ही फायदा है क्योंकि यह टोल फ्री नंबर है मुख्यमंत्री हेल्पलाइन नंबर 1076 के निम्नलिखित फायदे

  • टोल फ्री नंबर पर आप किसी भी समय फोन कर सकते हैं यह टोल फ्री नंबर 24 घंटे चालू रहता है
  • इस नंबर पर फोन करने के बाद ग्राहक सेवा अधिकारी आपकी शिकायत जनसुनवाई पोर्टल पर दर्ज करता है
  • मुख्यमंत्री हेल्पलाइन नंबर का मुख्य फायदा यह है कि इसके द्वारा अनपढ़ व्यक्ति भी अपनी शिकायत को सरलता से दर्ज करवा सकता है
  • मुख्यमंत्री हेल्पलाइन नंबर ग्राहक सेवा अधिकारी बहुत ही प्रेम से आप की शिकायत को पूछते हैं और दर्ज करते हैं

एंटी भू-माफिया पोर्टल शिकायत दर्ज कैसे करें ?

उत्तर प्रदेश सरकार ने भू-माफियाओं द्वारा अवैध कब्जे की समस्या से निजात पाने के लिए ही यह पोर्टल बनाया है | अगर आपकी जमीन पर कोई भू-माफिया या दबंग गुंडे अवैध कब्ज़ा कर लेता है तो आप इस पोर्टल के माध्यम से अपनी शिकायत दर्ज कर सकते है |

एंटी भू-माफिया पोर्टल पर शिकायत की स्थिति कैसे देखें ?

  • अपनी शिकायत की स्थिति को देखने के लिए सबसे पहले आप को उत्तर प्रदेश जन सुनवाई पोर्टल की jansunwai.up.nic.in वेबसाइट पर जायें |
  • इसके बाद एंटी भू-माफिया पोर्टल के आप्शन पर क्लिक करें |
  • अगले पेज पर “शिकायत की स्थिति” का आप्शन दिखाई देगा yes पर क्लिक करें |
  • अगले पेज पर आने के बाद आप अपने शिकायत संख्या को भर कर ,मोबाइल नंबर और ईमेल आईडी की मदद से अपनी शिकायत की स्थिति को देख सकते है

ऑनलाइन शिकायत उत्तर प्रदेश में कैसे करें?

ऑनलाइन शिकायत करने के लिए आप सबसे पहले आपको jansunwai.up.nic.in पर जाना होगा और यहां पर शिकायत पंजीकरण के विकल्प पर क्लिक करके अपनी शिकायत दर्ज करें

Uttar Pradesh Jansunwai Number क्या है?

Jansunwai Uttar Pradesh Contact Number 1076 है।

यूपी जनसुनवाई पोर्टल ऐप्प कैसे डाऊनलोड करें?

जनसुनवाई पोर्टल ऐप्प को आप यूपी जनसुनवाई पोर्टल की आधिकारिक वेबसाइट jansunwai.up.nic.in से डाउनलोड कर सकते है।

जनसुनवाई पोर्टल पर की गई शिकायत की जांच कैसे करें?

जनसुनवाई पोर्टल पर की गई शिकायत की जांच करने के लिए शिकायत संदर्भ संख्या और मोबाइल नंबर दोनों होना आवश्यक है इन दोनों के माध्यम से पोर्टल पर जाकर की आप चेक कर सकते हैं अपनी शिकायत की स्थिति

निस्तारित क्या है?

निस्तारित का अर्थ होता है की समस्या का समाधान हो चूका | निस्तारण का मतलब यह है की समस्या जो थी वह हाल हो चुका है

1076 की शिकायत कैसे देखें?

1076 की शिकायत स्थित को चेक करने के लिए आपको हेल्पलाइन नंबर 1076 पर कॉल करना होगा। और अपनी कंप्लेंट नंबर बताना होगा। जिसके पश्चात आपको आपकी शिकायत की स्थिति के बारे में जानकारी प्रदान की जाएगी।

ऑनलाइन शिकायत कैसे दर्ज करें?

ऑनलाइन शिकायत दर्ज करने के लिए आपको जनसुनवाई पोर्टल पर जाना होगा। पोर्टल पर उपलब्ध शिकायत पंजीकरण ऑप्शन पर क्लिक करके आप अपनी शिकायत दर्ज कर सकते हैं।

पोर्टल पर शिकायत कैसे दर्ज करें?

पोर्टल पर शिकायत करने के लिए आपको ऊपर स्टेप बाय स्टेप पूरी जानकारी प्रदान की गई है। आप यहां दी गई जानकारी के अनुसार अपनी शिकायत दर्ज कर सकते हैं।

किसी भी अधिकारी की शिकायत कैसे करें?

किसी भी अधिकारी की शिकायत तो आप जनसुनवाई पोर्टल के माध्यम से कर सकते हैं। आप ऑनलाइन पोर्टल पर जाकर अथवा ऐप डाउनलोड करके अपनी शिकायत दर्ज कर सकते हैं।

तहसील में शिकायत कैसे करें?

यदि आप तहसील में जाकर शिकायत करना चाहते हैं, तो आप जनता दरबार में जाकर शिकायत दर्ज करवा सकते हैं आपकी शिकायत का तुरंत निस्तारण किया जाएगा

इस पोर्टल का लाभ लेने के लिए हमें किसी शुल्क का भुगतान करना होगा?

जी नहीं! इस पोर्टल की सभी सुविधाओं को विभाग द्वारा पूर्णतया निःशुल्क शुरू किया गया है। इसलिए आपको इस पोर्टल का उपयोग करने के लिए किसी भी प्रकार का कोई भी शुल्क का भुगतान नहीं करना होगा।

निष्कर्ष

जनसुनवाई पोर्टल से संबंधित इस आर्टिकल में आपको बहुत जानकारी प्राप्त हुई होगी इस आर्टिकल के माध्यम से हमने यह बताया है कि आप जनसुनवाई पोर्टल पर अपनी शिकायत कैसे दर्ज करवा सकते हैं और इस पोर्टल के माध्यम से आप अपनी शिकायत की स्थिति को कैसे चेक कर सकते हैं इस पोर्टल के माध्यम से आप अपना शिकायत का फीडबैक भी कैसे भेज सकते हैं उत्तर प्रदेश में सरकारी विभाग से संबंधित सभी प्रकार की शिकायतों को इस पोर्टल के माध्यम से सरलता से शिकायत दर्ज किया जा सकता है और घर बैठे आप अपने मोबाइल से शिकायत आख्या रिपोर्ट को भी देख सकते हैं

Leave a Comment